टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर की कुछ यादगार पारियां

पूर्व भारतीय ऑलराउंडर युसूफ पठान की गिनती घरेलू और साथ ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में देश के सबसे मुश्किल हिटिंग क्रिकेटरों में होती है। यूसुफ उन निचले क्रम के बल्लेबाजों में से एक है, जो टी20 क्रिकेट में चार ओवर फेंक सकता है और स्लॉग ओवरों में रस्सियों को साफ करने की अपनी चतुर क्षमता के साथ टीम को एक शक्तिशाली धक्का देने में सक्षम है।

अपनी बल्लेबाजी शैली की तरह ही, यूसुफ ने भारत के लिए अपना पदार्पण अजीबोगरीब तरीके से किया। उन्होंने भारत बनाम पाकिस्तान 2007 टी20 विश्व कप फाइनल के दौरान पहली बार भारत के रंगों को धारण किया। उन्होंने चोटिल वीरेंद्र सहवाग की गैरमौजूदगी में टीम इंडिया की पारी की शुरुआत की और मोहम्मद आसिफ को छक्का जड़कर शानदार तरीके से अपने आगमन की घोषणा की। हालाँकि मैच के तीसरे ओवर में उन्हें हमले से नहीं हटाया गया था, लेकिन उनके संक्षिप्त कैमियो ने मेन इन ब्लू को बहुत आवश्यक आत्मविश्वास दिया।

आज बड़ौदा के क्रिकेटर अपना 40वां जन्मदिन मना रहे हैं; यहां हम उनके कुछ बेहतरीन प्रदर्शनों पर एक नजर डालते हैं:

123* (96) और 3/49 बनाम न्यूजीलैंड 2010 बेंगलुरु में

यूसुफ ने अपने वनडे करियर में सिर्फ दो शतक बनाए हैं और उनमें से एक 2010 में न्यूजीलैंड के खिलाफ बेंगलुरु में आया था। न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 315/7 का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया। जवाब में युसूफ के धमाकेदार शतक की बदौलत भारत ने यह मैच पांच विकेट से जीत लिया। उन्होंने 96 गेंदों पर सात चौकों और सात छक्कों की मदद से नाबाद 123 रन बनाए। उन्होंने उक्त मैच में तीन विकेट लेने का कारनामा भी किया था।

सेंचुरियन में 2011 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 70 गेंदों पर 105 रन

एकदिवसीय मैचों में यूसुफ का सबसे उल्लेखनीय प्रदर्शन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2011 में सेंचुरियन में हुआ, हालांकि हार का कारण बना। बारिश से बदले मैच में जीत के लिए 268 रनों का पीछा करते हुए, भारत 12 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 60 रनों से पिछड़ रहा था, जब यूसुफ 7वें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे। उन्होंने मैच में 70 गेंदों पर 105 रन बनाए और अकेले दम पर मार्गदर्शन किया। भारत लक्ष्य से महज 33 रन पीछे 234 रन पर पहुंच गया। यूसुफ की पारी में आठ चौके और आठ छक्के लगे।

22* (10) और 2/23 बनाम श्रीलंका 2010 कोलंबो में

टी20ई में यूसुफ का सबसे पूर्ण प्रदर्शन 2010 में कोलंबो में श्रीलंका के खिलाफ आया था। एक जीत के लिए 172 रनों का पीछा करते हुए, भारत 110/6 पर लड़खड़ा रहा था जब युसुफ 8वें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे। उन्होंने 220 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ 10 रन पर नाबाद 22 रन बनाए और भारत ने श्रीलंका को तीन विकेट से हरा दिया। उन्हें दूसरे छोर से उनके भाई इरफान पठान का भी अच्छा साथ मिला। यूसुफ ने 23 रन देकर दो विकेट भी चटकाए और उन्हें उनके प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

हरारे में जिम्बाब्वे 2010 के खिलाफ 24 गेंदों में 37* रन

यूसुफ ने 2010 में हरारे में 24 गेंदों पर नाबाद 37 रन बनाए थे, जिससे भारत ने जिम्बाब्वे को छह विकेट से हराया था। उनकी पारी में दो चौके और तीन छक्के लगे। उन्होंने मैच में दो ओवर भी फेंके और सिर्फ 10 रन दिए।

नवीनतम प्राप्त करें क्रिकेट खबर, अनुसूची तथा क्रिकेट लाइव स्कोर यहां

Leave a Comment